नारी प्रधान नूर है एक कमजोर कहानी, जो बनी है एक अच्छी नॉवेल पर

1698
Noor Movie Review
Noor Movie Review

फिल्म का नाम: नूर (Noor)
डायरेक्टर: सुनहिल सिप्पी
स्टार कास्ट : सोनाक्षी सिन्हा, कनन गिल, पूरब कोहली, शिबानी दांडेकर, एक के रैना, मनीष चौधरी, सनी लियोनी
मूवी टाइप : Drama
अवधि: 1 घंटा 54 मिनट


 
Noor Movie Review – फिल्मी दुनिया में नारी प्रधान मूवीज का आना कोई नयी बात नहीं है, 60 के दशक से लेकर आज तक के दौर में भी नारियो पर फ़िल्में बनती रही है। आज की टॉप ऐक्ट्रेस भी हमेशा से ही अपनी अलग पहचान बनाने की चाह में अपने प्राइस से कम प्राइस लेकर नायिका प्रधान फिल्में करती रहती हैं। करीना कपूर ने ‘चमेली’ जैसी कम बजट वाली फिल्म की तो कंगना ने ‘क्वीन’ सहित कुछ और ऐसी ही फिल्में की।

सोनाक्षी सिन्हा ने पहले अकीरा में भी लीड रोल किया, अब नूर में भी सोनाक्षी सिन्हा का लीड रोल है और पूरी कहानी उन्ही के इर्दगिर्द घूमती है। नूर की कहानी एक पाकिस्तानी राइटर सबा इम्तियाज़ के बेस्ट सेलर नॉवल ‘कराची यू आर किलिंग मी’ से प्रेरित है। यह कहानी एक ऐसी जर्नलिस्ट महिला की है जो पत्रकारिता की दुनिया में अपने दम पर कुछ डिफरेंट करना चाहती है, लेकिन ऐसा नहीं हो पाता, कुछ अलग करने की चाह में नूर और उसके पापा की जान जरूर ख़तरे में पड़ जाती है।
कहानी:

यह कहानी मुंबई की रहने वाली 28 साल की जर्नलिस्ट नूर रॉय चौधरी (सोनाक्षी सिन्हा) की है, जो अपने पिता के साथ रहती है. नूर की मां का बचपन में ही निधन हो चुका है। नूर की जिंदगी में उसके दो दोस्त साद सहगल (कनन गिल) और जारा पटेल (शिबानी दांडेकर) काफी अहमियत रखते हैं, उसका बॉस शेखर दास (मनीष चौधरी) हमेशा ही उसे एंटरटेनमेंट की स्टोरी करने को कहता है लेकिन नूर हमेशा रीयल मुद्दे पर आधारित स्टोरीज करना चाहती है। इसी वजह से नूर अपने बॉस शेखर दास (मनीष चौधरी) से हमेशा अपसेट रहती है।

इसी बीच नूर के हाथ एक ऐसी सनसनीखेज स्टोरी लग जाती है जो समाज की कई नामी हस्तियों के चेहरे से ईमानदारी और समाजसेवा का नकाब हटा सकती है, नूर के घर की नौकरानी मालती का भाई वासु एक ऐसे किडनी ट्रांसप्लांट गिरोह के चंगुल में फंसकर अपनी एक किडनी गंवा बैठता है, जिसमें शहर के कई नमी लोग और डॉक्टर शामिल हैं। नूर इस स्टोरी को कवर तो करती है, लेकिन उसका बॉस शेखर इस स्टोरी पर एक दो दिन बाद डिस्कस करने की बात कहकर स्टोरी को वही रोक देता है।और फिर नूर की यह स्टोरी चोरी हो जाती है, एक दूसरे टीवी चैनल पर स्टोरी चलने के बाद मालती और उसका भाई अचानक गायब हो जाते हैं।
इसी बीच कहानी में अयान बनर्जी (पूरब कोहली) की एंट्री होती है। अंततः कहानी में बहुत मोड़ आते हैं और कहानी को अंजाम मिलता है।

Noor Review
Some stills from noor

नूर मूवी की समीक्षा करे तो फिल्म काफी बोरिंग है क्यूंकि यह फिल्म बहुत धीरे धीरे चलती है जिसे तेज किया जा सकता था जो इस फिल्म की कमजोर कड़ी है। यह फिल्म जिस नॉवेल पर आधारित है उसमें कई सारे उतार चढ़ाव और थ्रिलिंग एलिमेंट्स हैं पर नूर फिल्म को कोई और ही रूप दे दिया गया है। कई जगहों पर काफी खींची खींची कहानी लगती है
। नूर इंटरनेट की आभासी और मायावी दुनिया जैसी रची गई है। अतः मनोरंजन भी फुसफुसा है।

शुरुआत से लेकर आखिर तक पूरी फिल्म नूर के आसपास ही घूमती है, अकीरा में ऐक्शन स्टंट करने के बाद सोनाक्षी ने नूर के किरदार को बेहतरीन ढंग से निभाया है। बेशक, नूर का किरदार कुछ कन्फ्यूज सा है जो प्यार और करियर के चक्रव्यूह में फंसा सा हुआ है। न ठीक-ठीक प्यार है और न करियर। सोनाक्षी के किरदार को हम बरसों पहले आई मधुर की फिल्म पेज 3 की महिला जर्नलिस्ट कोंकणा सेन शर्मा के किरदार का एक्सटेंशन भी कह सकते हैं, वहीं कनन गिल, पूरब कोहली, शिबानी, एम के रैना ने अपने अपने किरदार को पूरी ईमानदारी के साथ निभाया है।
ऐसा लग रहा है की सुन्हील सिप्पी को काफ़ी बिखरी हुई स्क्रिप्ट मिली क्योंकि तकनीकी नजरिये से फिल्म पर उनकी पकड़ है। उन्होंने नूर की कहानी की शुरुआत का बडा पार्ट मोनोलॉग के ज़रिए पेश किया। अगर दो घंटे की फिल्म में करीब दस – पंद्रह मिनट तक फिल्म की लीड किरदार नूर ही अपने बारे में बताती रहे तो यकीनन दर्शकों को यह बोरिंग लगेगा।
इस कहानी में सुनील ने एक मैसेज भी दिए के मीडिया में एंट्री करने वाले युवा पीढी को ब्रेकिंग न्यूज और अपने नाम चमकाने की चाह में किसी की जान से कभी नहीं खेलना चाहिए।

फिल्म का एक गाना गुलाबी आंखें जो तेरी देखी पहले से कई म्यूजिक चार्ट में टॉप फाइव में शामिल है।

क्यों देखें Noor Movie:

नूर फिल्म एक बेहतरीन नॉवल पर बनी ऐसी फिल्म जिसमें मीडिया का एक अलग चेहरा पूरी ईमानदारी के साथ पेश किया गया है, सोनाक्षी की बेहतरीन ऐक्टिंग इस फिल्म को देखने की एक वजह हो सकती है।
फिल्म में सोनाक्षी सिन्हा ने बहुत ही बढ़िया अभिनय किया है जो काफी दिलचस्प है. वहीं बाकी किरदार जैसे सोनाक्षी सिन्हा, मनीष चौधरी, पूरब कोहली, कनन गिल, शिबानी दांडेकर, स्मिता ताम्बे ने भी सहज अभिनय किया है. स्मिता ताम्बे ने तो कुछ सीन्स कमाल के किये हैं।

Noor Movie बॉक्स ऑफिस:

फिल्म का बजट लगभग 15 करोड़ बताया जा रहा है और डिजिटल और सैटेलाईट राइट्स के साथ फिल्म की कॉस्ट रिकवरी की उम्मीद भी है। फिल्म को 1300-1500 स्क्रीन्स के बीच रिलीज किया जाएगा जिसकी वजह से वीकेंड में कॉस्ट आराम से रिकवर होने के चांसेज बताए जा रहे हैं।

REVIEW OVERVIEW
Review Date
Cast
Sonakshi Sinha, Purab Kohli and Kanan Gill
Author Rating
21star1stargraygraygray

LEAVE A REPLY