UP के CM योगी आदित्यनाथ हजरतगंज पुलिस स्टेशन में अचानक पहुंचे, मच गया हड़कंप

1613
UP CM Yogi Adityanath makes surprise visit to Hazratganj police station
UP CM Yogi Adityanath makes surprise visit to Hazratganj police station

लखनऊ: उत्तर प्रदेश को भगवन राम का राज्य माना जाता है तो लोग मुख्यमंत्री भी इस प्रदेश के लिए ऐसा चाहते थे जो इस राम राज्य की भाग ढोर अछे से संभाल पाए। पिछले कई सालो से उत्तर प्रदेश अच्छी सत्ता के लिए तरस गया था परंतु लोगो का मानना है की अब लगता है भगवन राम ने सबकी प्राथना सुन ली और योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath) को भेज दिया।

सुपर एक्टिव कहलाने वाले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कल गुरुवार को सुबह लुखनऊ के हज़रतगंज पुलिस स्टेशन में अचानक ही आ गए। वो बिना बताये वहाँ की व्यवस्था और अफसरों की सक्रियता का ब्यौरा लेना चाहते थे लेकिन वहाँ के अवसर इस बात से बेखबर थे की योगी आदित्यनाथ आने वाले है। बरहाल वहाँ की व्यवस्था सही थी उन्होंने वहाँ की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया और महिला पुलिस कर्मचारी से बातचीत की। मुख्यमंत्री के अचानक पहुंचने से वहां हड़कम्प मच गया. उनके साथ पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद और लखनउ की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजिल सैनी भी मौजूद थीं.

मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य में कानून का राज हो. इस दृष्टि से पुलिस का मनोबल देखने और पुलिस की कार्यशैली की स्थिति को परखने के लिए यह दौरा था और ऐसे और दौरे हो सकते हैं. उल्लेखनीय है कि राज्य में जब से बीजेपी की सरकार आई है तब से सरकार का कानून व्यवस्था पर सबसे ज्यादा जोर है. पार्टी ने चुनाव के दौरान राज्य में कानून व्यवस्था की खराब हालात को मुद्दा बनाया था.

इस बीच, पुलिस महानिदेशक ने बताया कि अपने दौरे के दौरान आदित्यनाथ ने अपराध शाखा और साइबर प्रकोष्ठ का निरीक्षण किया तथा अधिकारियों और कर्मचारियों को समय से दफ्तर आने की ताकीद की. साथ ही उन्होंने अपराध शाखा के बारे में तथा पुलिस की आवश्यकताओं के बारे में बहुत गहन जानकारी ली.

गौरतलब है कि यूपी में नई सरकार के वादे के मुताबिक छेड़खानी के खिलाफ पूरे प्रदेश में एंटी रोमियो ड्राइव शुरू कर दी गई है. बुधवार को दर्जनों जिलों में यह ड्राइव चली, लेकिन कई जगहों पर साथ-साथ घूम रहे लड़के-लड़कियों को भी पुलिस द्वारा परेशान किए जाने की बात सामने आई.

अब सीएम ने स्‍पष्‍ट आदेश दिया है कि इस अभियान में केवल छेड़खानी करने वालों को पकड़ा जाए. अपनी खुशी से घूम-फिरने वाले लड़के-लड़कियों को परेशान न किया जाए. वहीं, सीएम ने यह भी कहा कि बिना लाइसेंस वाले बूचड़खानों को बंद किया जाए और जिनके पास लाइसेंस हैं, वे जल्‍द से जल्‍द नियमों का पालन करें.

उन्‍होंने निर्देश दिए हैं कि सरकारी दफ्तर में सभी लोग टाइम से आएं. इसके साथ ही जल्‍द सरकारी कार्यालयों में सीसीटीवी कैमरें और बायोमेट्रिक सिस्‍टम लगाया जाए. सरकारी दफ्तरों में पान-गुटखा खाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. सीएम ने हर फाइल का निपटारा 60 दिन के अंदर किए जाने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए.

LEAVE A REPLY