जरुरत के मुताबिक AC खरीदिए और बिजली का बिल बचाइए

1768
select the right Air Conditioner for your home
select the right Air Conditioner for your home

सूरज देवता वापिस आगये है और लगता है अपनी गर्मी से इस बार वो सबको पिगलके रहेंगे. मौसम विभाग ने पहले ही चेतवानी देदी है इस बार गर्मी कुछ ज्यादा ही होगी। यही मौका होता है जब Air conditioner कंपनिया मोके का फायदा लेती है क्योकि सब इशी टाइम अपने घर के लिए AC खरीदेने निकलते है। अगर ऐसे में अपने अभी तक AC नहीं लिया है तो आप फ़ौरन लेले। परंतु AC लेने से पहले कुछ चीज़ों पे ध्यान दे ताकि काम दाम में अच्छी ठंडक ले सके। इसलिए, उड़ती खबर बिजली बचाव में आपको कुछ जानकारी प्रदान कर रहा है जो लोगों को एयर कंडीशनर खरीदने से पहले एक सूचित निर्णय करने में सक्षम बनाएगा।
 

अब जानते है Air conditioner खरीदने से पहले क्या क्या बातो का ध्यान में रखे


एक खरीदने से पहले किन बातो का ध्यान रखे इसे जानने के लिए हमने विशेषज्ञओ से मुलाकात की और उन्होंने बहुत ही बेसिक चीज़ों को समझाया जोकि हर उपभोक्ता एक खरीदने से पहले नहीं सोचता।
 

कपैसिटी(Capacity or tonnage)

कम कपैसिटी वाली यूनिट्स खरीदते समय आपके पैसे तो बचा सकती हैं, लेकिन इससे आपकी बिजली की खपत बढ़ जाती है और AC की लाइफ भी कम हो जाती है। अगर जरुरत से ज्यादा कैपेसिटी वाला एसी लोगे तो आपको पैसे तो ज्यादा देने ही पड़ते है साथ सात बिजली का बिल भी ज्यादा आता है। ऐसे में सही कपैसिटी का एसी खरीदने से आपको बिजली के बिल और कूलिंग, दोनों में फायदा होता है।

सही कैपेसिटी वाला Air Conditioner लेने के लिए सबसे पहले आपको अपने कमरे के एरिया का आकलन करना चाहिए। इसके बाद कमरे के एरिया को 600 से भाग कर दीजिए ताकि आपको बेसिक कपैसिटी मिल सके। अब आप कमरे में रहने वाले हर 5 लोगों के लिए बेसिक कैपेसिटी में 0.5 टन जोड़ दीजिए। मान लीजिए अगर आपका कमरा 100 वर्गफुट का है तो जरूरी बेसिक एसी कपैसिटी 600 से भाग करके 0.167 टन होगी। अब आप कमरे में रहने वाले हर 5 लोगों के लिए बेसिक कैपेसिटी में 0.5 टन जोड़ दीजिए। सामान्य तौर पर, 0.8 टन कपैसिटी का एसी 100 वर्गफुट के कमरे लिए ठीक रहता है। 120 से 140 वर्ग फ़ीट के क्षेत्रफल के लिए 1 टन, 150 से 180 वर्ग फ़ीट के क्षेत्रफल के लिए 1.5 टन और 180 से 250 वर्ग फ़ीट के क्षेत्रफल के लिए 2 टन कपैसिटी की आवश्यकता होगी।
 

एनर्जी इफिशन्ट रेटिंग(Energy Efficiency Rating)

आप एनर्जी इफिशन्ट एसी खरीद सकें, इसलिए ब्यूरो ऑफ एनर्जी इफिशंसी (बीईई) नई रेटिंग मेथडॉलजी- आईएसईईआर (इंडियन सीजनल एनर्जी इफिशंसी रेशियो) दी थी। यह रेटिंग करने का बेहतर तरीका है। किसी एसी की ज्यादा स्टार रेटिंग्स का मतलब है कि यह एसी उतनी ही कम बिजली खाता है। हालांकि, इसका यह मतलब नहीं है कि आपको हमेशा ज्यादा स्टार वाला या 5-स्टार रेटिंग वाले एसी खरीदना चाहिए। इस बारे में फैसला हमेशा आपके इस्तेमाल पर निर्भर होना चाहिए।

new bee Energy Efficiency Rating
New bee Energy Efficiency Rating

अगर आपकी एसी यूसेज काम है या आप काम घंटो के लिए एसी चलते हो तो 3-स्टार रेटेड एसी लेना आपके लिए बेहतर रहेगा। और अगर आप 8 घंटे से ज्यादा एसी चलते हो तो आपको 5-स्टार रेटेड एसी लेना चाइये।
 

आफ्टर सेल्स सर्विस(After sale service)

कारों की तरह ही Air Conditioner को भी बेहतर परफॉर्मेंस के लिए रेगुलर सर्विसिंग मांगता है। ऐसे में आपको एसी खरीदने से पहले कंपनी की आफ्टर सेल्स सर्विस और वॉरंटी का पता होना चाहिए। थोड़ी सी पूछताछ  से आपको सबसे अच्छा और सबसे खराब सर्विस प्रोवाइडर्स का पता चल जाएगा। एयर कंडीशनर बारे में चयन काफी देख-समझकर करना चाहिए।
 

स्प्लिट और विंडो(Split or window Air Conditioner)

एक और निर्णायक कारक है कि क्या आप विंडो एसी या एक स्प्लिट मॉडल चाहते हैं। हालांकि विंडो एसी सस्ता और स्थापित करने में आसान हैं, विभाजित एसी शांत, सौंदर्यशास्त्र से अधिक सुखदायक और बेहतर हवा वितरण प्रदान करते हैं। इसके इलावा विंडो एसी किसी खिड़की पर ही लग सकते है और स्प्लिट एसी के साथ एक कंप्रेसर यूनिट लगनी होती है जो घर के बहार लगती है। मतलब की स्प्लिट एसी दो हिस्सो में विभाजित होता है पहला हिस्सा यानिकी एसी अंदर कमरे में लगेगा और दूसरा हिस्सा कंप्रेसर यूनिट घर के बाहर लगेगा।

Difference between Split or window AC
Difference between Split or window AC

LEAVE A REPLY